Bounce Rate क्या है और बाउंस रेट कैसे कम करे

ब्लॉगिंग के फील्ड मे बहूत सारे technical term है जिस को नये  ब्लोग्गेर जानते नही है और उनको जानना बहूत ज़रूरी होता है ऐसी हि एक technical term है जिसको हम Bounce Rate बाउंस रेट कहते है जिसके बारे मे जानना बहूत ज़रूरी है  क्योंकि यह हमारे ब्लोग कि रैंकिंग मे प्रभाव लाता है ऐसे बहूत सारे चेकिंग टूल्स है जो  बाउंस को दिखाते है जिसको देख बहूत सारे लोग confuse हो जाते हैं और समझ नही पाते है मै बात करू अपनी तो मै समझ्ता था कि बाउंस रेट जितना आधिक होगा उतना अच्छा  होगा लेकिन ऐसा नही है बाउंस रेट कितना कम होगा उतना हि अच्छा है और बहूत से लोग इस बात को सर्च करते है कि बाउन्स रेट कितना होना चहिये यह सब जानना बहूत ज़रूरी है सो आज हम इसी टॉपिक पर बात करते है.

तो आज हम इस पोस्ट में What is Bounce Rate  इन हिंदी सरल भाषा में समझेगे कि आखिर बाउंस रेट क्या है और इसका आपकी साइट पर क्या प्रभाव पड़ता है बाउंस रेट कितना होना चहिये और बाउंस रेट को कैसे कम करे

बाउंस  रेट क्या है ?

वेबसाइट पर आने वाले लोगों का प्रतिशत % जो केबल एक हि पेज पढ़ने के बाद वेबसाइट से चले जाते हैं यही  प्रतिशत % Bounce Rate कहलाता है

अब इस को बिस्तार से समझते है आपके वेबसाइट पर एक दिन मे बहूत लोग आते है तो उन लोगो मे कुछ लोग एक पोस्ट पढ़ने के बाद चले जाते है तो कुछ लोग एक से ज़्यादा पोस्ट पढ़ कर जाते है जो लोग सिर्फ एक पोस्ट पढ़ने के बाद चले जाते है उन्ही लोगो का % बाउंस रेट कहलाता है

माना कि हमारे वेबसाइट पर एक दिन मे 60 लोग आते है जिसमे 40 लोगो मे सिर्फ हमारी एक हि पोस्ट पढ़ी और बाकी 20 लोगो ने एक से ज़्यादा पोस्ट पढ़ी तो इसका मतलब यह हुया कि उस दिन आपका  बाउंस  रेट 40 रहा कियो कि 40 लोगो ने केबल आपकी एक हि पोस्ट पढ़ी अब आप अच्छे  समझ गये होंगे कि  बाउंस  रेट किसे कहते है

  वेबसाइट पर बाउंस रेट का प्रभाव Effect Of Bounce Rate On Site

बाउंस  रेट वेबसाइट पर आने वाले एक हि पेज पढ़ने के बाद वेबसाइट से चले जाने बाले लोगो का स्कोर होता है जिसका सीधा सीधा अर्थ यह हुया कि आप कि पोस्ट इतनी आकर्षित नही कि लोग आपकी दूसरी पोस्ट  पढ़ने  के लिये इच्छुक  हो जब आपका  बाउंस रेट बढ़ जाता है Google और दूसरे सर्च इंजनों को समझ आ जाता है कि आपकी वेबसाइट पर high quality content नही है और लोगो को आपके पोस्ट ज़्यादा लाभदयक साबित नही हो पा रहे है तो सर्च इंज़न आपके वेबसाइट कि रैंकिंग को कम कर देती है. इसलिये वेबसाईट या ब्लॉग का बाउंस रेट कम करने का प्रयास करें तो चलिये जानते है कि बाउंस रेट कम कैसे करे

बाउंस रेट को कम करने के तरिके Tips for decreasing Bounce Rate-

bounce rate kaise kam kare

इस को कम तो नही किया जा सकता है लेकिन नियंत्रण किया जा सकता है कियोकि यह हम आने बाले लोग हमारी कितनी पोस्ट पढ़े कितनी देर तक हमारी वेबसाइट पर रहे यह हम तय नही कर सकते है लेकिन हम अपने ब्लोग मे audience को अपने article performance से बान्धे रह सकते है तो चलिये जानते है कि बाउंस रेट को कम कैसे करे

1.high quality content – यह तो must हि है जब आप ऐसा पोस्ट लिखोगे जिससे आने बाले लोगो को फायदा हो तो वो आपकी और भी पोस्ट  पढ़ने के लिये excited हो इसका मतलब है कि आप अपने लिये नही बल्की लोगो के फायदे के लिये हि पोस्ट लिखे जिससे वो आपकी और भी पोस्ट को पढ़े

2. Internal Linking- जब आप कोई article लिखते हो तब उससे related अपकी कोई दुसरी पोस्ट है या ऐसा कोई ऐसा keyword जिसपर आप पहले से पोस्ट लिख चुके है तो आप उसका लिंक ज़रूर दे अपने हि ब्लॉग की अन्य पोस्टों का link अपनी ही किसी पोस्ट में देना Internal Linking कहलाता है ऐसा करने से लोग आपकी दूसरी पोस्टें पढ़ सकते हैं

3.site design और theme-

आप अपने ब्लोग को  अच्छे से design करे और अच्छी theme का चयन करे आप सरल और simple site design करे और जो चीज़ देखने मे अच्छी लगेगी वो लोगो को attractive तो करेगी हि जिससे लोगो को आप के ब्लोग पर पोस्ट पढ़ना  अच्छा  लगे और वोह बाकि भी पोस्ट पढ़े

4.page load time – यह SEO के लिये भी बहूत ज़रूरी है आप अपने ब्लोग के page load time का ध्यान रखे और साथ हि साथ कब size का image इस्तेमाल करे जिससे page load time ज़्यादा ना हो और visitour आसनी से आपके ब्लोग को पद सके

5. friendly heading- अक्सर ऐसा होता है कि topic headline कुछ होती है लिखा कुछ होता है तो ऐसी चीज़ो से बचे और ज़रूरत के हो हिसाब से ही heading दाले और अपना ब्लोग friendly  लिखे जिससे लोगो को असानी से समझ आ जाये

 बाउंस रेट कितना होना चाहिए –

अब जितना कम बाउंस रेट होगा उतना हि अच्छा  होगा यह बात तो हम ने जानली लेकिन कितना कम होना चहिये या कितना अधिक होना नही चहिये यह जानना ज़रूरी है तो यह कोइ फिक्स नही है वैसे ज़्यादातर ब्लोगस का बाउंस रेट 40 – 70 % के बीच मे होता है इतना होने पर आपका बाउंस रेट  ठीक है और इससे कम होने पर अपका स्कोर बहूत अच्छा है और 40 – 70 % के बीच मे ना हो कर ज़्यादा है तो आपका बाउंस रेट ठीक नही है और आपको इसके बारे मे सोचना चहिये और और अपने ब्लोग performance मे सुधार करना चहिये

NOTE – बाउंस रेट जितना ज्यादा होता है उतना ही हमारे लिये खराब है बाउंस रेट जितना कम होगा उतना हि अच्छा है

conclusion

एक वेबसाइट के लिए bounce rate बहुत ज्यादा मायने रखता है इसलिए जितना हो सके बाउन्स रेट कम रखने का प्रयास करना चाहिए।आशा करता हु कि आपके लिये यह पोस्ट लाभदायक साबित हुयी होगी और आशा करता हु कि आप इस पोस्ट के माध्यम से अब जान गये हुंगे कि What is the Bounce Rate इन हिंदी साथ हि साथ इसको कम करने का तरिका भी जान गये हुंगे आप मुझे comment कर के बता सकते है कि यह पोस्ट आप के लिये कितनी लाभदायक साबित हुयी और यह पोस्ट आप को कैसी लगी

1 thought on “Bounce Rate क्या है और बाउंस रेट कैसे कम करे”

Leave a Comment